दिल्ली एनसीआरदेश-दुनियाराज्यहरियाणा

कालका-शिमला रेल सेक्शन पर दौड़ेंगी देश की पहली हाइड्रेल ट्रेनें

रेलवे विभाग द्वारा कालका-शिमला हेरिटेज रेल सेक्शन पर आगामी दिसंबर तक हाइड्रोजन ईंधन से चलने वाली हाइड्रेल ट्रेन चलाई जाएंगी। इसके आधारभूत संरचना से लेकर ट्रेनों के नए रैक पर लगभग 870 करोड़ रुपए खर्च होंगे इसमें से 70 करोड़ रुपए तीन स्टेशनों पर ही खर्च होंगे। रेलवे आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हाइड्रोजन से चलने वाली देश की पहली ट्रेन चलाने के लिए उक्त स्टेशनों पर पानी से हाइड्रोजन निकालकर उसे ईंधन में बदलने के प्लांट लगेंगे।

डीआरएम एमएस भाटिया ने बताया कि मेक इन इंडिया योजना के तहत चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्टरी में पहले 10 हाइड्रोजन कोच बनाए जाएंगे एक कोच के निर्माण पर लगभग 80 करोड़ रुपए खर्च होंगे। हाइड्रोजन ट्रेन की स्पीड 29 किलोमीटर प्रति घंटा होगी लेकिन कालका-शिमला रेल मार्ग पर कई मोड़ होने के चलते इसकी अधिकतम रफ्तार 27.5 किलोमीटर तक रखी जाएगी क्योंकि मात्र ढाई फुट चौड़ी रेल लाइन में कई जगह 48 डिग्री तक के कई तीखे मोड़ शामिल हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button