आस्था

38 लाख के नोटों से सजा बाबा गणेश का दरबार, यहां होती है हर मनोकामना पूरी

मंदिर तो कई सारे बने हुए है लेकिन इस मंदिर की खासियत यह है कि यह उज्जैन के चक्रतीर्थ शमशान में बना हुआ है.

इंद्रेश/उज्जैन: उज्जैन 38 लाख से बाबा गणेश का दरबार सजाया गया है. सजावट में 10 रुपए के नोट से लेकर 2 हजार तक के नोटो का उपयोग किया गया है. मनोकामना पूरी होने पर यजमान ने अनूठा श्रृंगार करवाया है. माह की चतुर्थी और विशेष बुधवार को अलग अलग वस्तुओ से श्रृंगार किया जाता है.

उज्जैन में क्षिप्रा नदी के किनारे दस भुजा धारी मंदिर बना हुआ है. यू तो मंदिर तो कई सारे बने हुए है लेकिन इस मंदिर की खासियत यह है कि यह उज्जैन के चक्रतीर्थ शमशान में बना हुआ है.

शमशान पर बना एकमात्र मंदिर
यह विश्व का एक मात्र ऐसा गणेश मंदिर है जो शमशान में बना है. मंदिर का नाम दसभुजा नाथ है. आस्था के रूप में बाबा के इस मंदिर का बहुत महत्व है. इस मंदिर में विराजित भगवान गणेश के पांच बुधवार लगातार दर्शन करने से सारी मनोकामना पूरी होती है. मनोकामना पूरी होने के साथ ही यजमान अपनी श्रद्धा के अनुरूप बाबा का श्रृंगार कराते है.

दुर्लभ प्रतिमा विराजित
हाल ही में मनोकामना पूरी होने पर भगवान गणेश का विशेष श्रृंगार किया गया. श्रृंगार में 38 लाख के नोट का श्रृंगार हुआ जिसमें 10 से लेकर दो हजार के नोटो का उपयोग किया गया. मंदिर के पुजारी हेमंत इंगले ने बताया कि मंदिर में भगवान गणेश की प्रतिमा विराजित है जिनकी गोद में उनकी पुत्री संतोषी विराजित है.

कई श्रृंगार से सजते है भगवान
भगवान गणेश की ऐसी प्रतिमा बहुत दुर्लभ है. जिनके दर्शन मात्र से सारी मनोकामना पूरी होती है. वही यजमान भी अपनी मनोकामना पूरी होने पर विशेष श्रृंगार कराते है. मंदिर में अब तक मोबाइल श्रृंगार फल फ्रूट से श्रृंगार लड्डू इमरती जैसे कई सिंगार किए जा चुके हैं.

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!