राज्यहरियाणा

सीएसआई व जेई की टीम करेंगी नालों का निरीक्षण, पानी निकालने को तैयार होंगे पंपसेट

मानसून में जलभराव से निपटने को निगमायुक्त ने ली अधिकारियों की बैठक, बनाई रण‌नीति

यमुनानगर :  मानसून में शहर में जलभराव न हो, इसको लेकर एडीसी एवं नगर निगम आयुक्त आयुष सिन्हा ने एडीसी कार्यालय में पब्लिक हेल्थ, सफाई शाखा व इंजीनियरिंग ब्रांच के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में मानसून में होने वाले जलभराव से निपटने के लिए रणनीति तैयार की गई। निगमायुक्त ने इस दौरान अधिकारियों को मानसून में जलभराव होने वाले स्थानों की तीन कैटागिरी बनाकर पंपसेट लगाने और नालों की सफाई को लेकर सीएसआई व जेई की टीम गठित कर निरीक्षण करने के निर्देश दिए। साथ ही डिचड्रेन व नालों की गहनता से सफाई करवाने के निर्देश दिए गए।

मानसून की तैयारियों को लेकर अधिकारियों की बैठक लेते निगमायुक्त आयुष सिन्हा
बैठक के दौरान इंजीनियरिंग ब्रांच के एक्सईएन रवि ओबरॉय व एक्सईएन एलसी चौहान ने बताया कि मानसून के दौरान जलभराव होने वाले 32 स्थान चिन्हित किए गए है। जहां बारिश होने पर जलभराव हो जाता है। यहां से पानी की निकासी के लिए ड्रेनेज सिस्टम व इंटरमीडिएट पंपिंग स्टेशन बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा बारिश के दौरान यहां से पानी निकालने के लिए पंपसेट है। निगमायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जब तक इन स्थानों से पानी की निकासी का स्थाई समाधान नहीं होता, यहां से पानी निकासी के लिए पंपसेट तैयार रखें जाए। उसके लिए पर्याप्त डीजल की व्यवस्था करें। बारिश होने पर तुरंत जलभराव वाले स्थानों पर इन पंपसेट को पहुंचाना सुनिश्चित करें। पब्लिक हेल्थ के एक्सईएन सुमित गर्ग ने सुझाव दिया कि जलभराव होने वाले स्थानों को तीन कैटागिरी में बांटा जाए। जहां लोगों के घरों में और सबसे अधिक जलभराव होने की संभावना रहती है, वहां सबसे पहले और जहां कम जलभराव होता है। उसे दूसरी व तीसरी कैटागिरी में लाया जाए। निगमायुक्त ने अधिकारियों को तीन कैटागिरी बनाकर जलभराव से निपटने के निर्देश दिए। नालों की सफाई को लेकर उन्होंने कहा कि जब तक टेंडर नहीं हो जाता, तब तक निगम अपने स्तर पर नालों की सफाई करेगा। इसके लिए उन्होंने तीनों सीएसआई को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नालों की सफाई को लेकर सीएसआई व जेई की टीम बनाई जाएगी। जो नालों का निरीक्षण करेंगे। जहां नालों की सफाई नहीं है, उसे साफ करना सुनिश्चित किया जाए। इसके अलावा नहरी विभाग के अधिकारियों को भी डिचड्रेन की जल्द से जल्द सफाई करवाने के निर्देश दिए गए। मौके पर सहायक निगम आयुक्त धीरज कुमार, उप निगम आयुक्त अशोक कुमार, अधीक्षक अभियंता हेमंत कुमार, एक्सईएन रवि ओबरॉय, एक्सईएन एलसी चौहान, पब्लिक हेल्थ एक्सईएन सुमित गर्ग, एक्सईएन पारिक गर्ग, सीएसआई अनिल नैन, सीएसआई सुरेंद्र चोपड़ा, सीएसआई हरजीत सिंह व अन्य मौजूद रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button