दिल्ली एनसीआर

Shraddha Murder Case: आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट शुरू, सामने आएगा हत्या का सच

इससे पहले हो चुका है आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट

श्रद्धा मर्डर मामले के आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट शुरू हो गया है। आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट दिल्ली के रोहिणी में बने अंबेडकर अस्पताल में किया जा रहा है। श्रद्धा के आरोपी आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट इससे पहले हो चुका है।
श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट दिल्ली के रोहिणी स्थित अंबेडकर अस्पताल में शुरू हो चुका है। आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट हो चुका है। पॉलीग्राफ टेस्ट में आफताब अपना गुनाह कबूल कर चुका है। आफताब से संबंधित जांच के लिए एसआईटी का भी गठन हो चुका है।
अंबेडकर अस्पताल में हो रहे नार्को टेस्ट के लिए सुबह दिल्ली पुलिस आफताब को तिहाड़ जेल से लेकर अंबेडकर अस्पताल पहुंची। यहां उसका नार्को टेस्ट हो रहा है। अंबेडकर अस्पताल के बाहर सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली पुलिस के कई जवान तैनात किए गए है। अस्तपाल के बाहर अतिरिक्त सुरक्षा तैनात है ताकि पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान हुए हमले को देखते हुए सुरक्षा के इंतजाम किए गए है।

बता दें कि नार्को टेस्ट से पहले आफताब का मेडिकल टेस्ट किया गया था। आफताब का नार्को सुबह 10 बजे शुरू हुआ था। पॉलीग्राफी टेस्ट के बाद अब तक उसकी रिपोर्ट नहीं आई है। जानकारी के मुताबिक पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान भी आफताब ने नॉर्मल व्यवहार किया था। इस टेस्ट में आफताब कबूल कर चुका है कि उसने श्रद्धा की हत्या की थी।

बता दें कि दिल्ली पुलिस के सूत्रों के अनुसार आफताब का ये व्यवहार पुलिस को परेशान कर रहा है। पुलिस को इसलिए भी ऐसा लग रहा है कि शुरुआत में उसने मुंबई पुलिस को गुमराह किया था। लेकिन जैसे ही वो दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया तो सबकुछ तोते की तरह बोलने लगा।

पुलिस फिर चलाएगी ऑपरेशन

पुलिस अब आफताब के बयानों के आधार पर फिर से छतरपुर और गुरुग्राम के जंगलों में सर्च ऑपरेशन चलाएगी। पुलिस अब भी श्रद्धा के शव के टुकड़ों या अन्य सबूतों को बरामद करने में जुटी हुई है। पुलिस ने जांच को तेज करते हुए फिर से सर्च ऑपरेशन चलाया है।

 

अब तक ये सवाल हैं अनसुलझे

– श्रद्धा का सिर कहां फेंका

– श्रद्धा का शव का अन्य हिस्सा कहां है

– श्रद्धा का मोबाइल अबतक लापता है

– मर्डर के समय श्रद्धा के पहने कपड़े गायब हैं

 

पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान हुआ ये खुलासा

पॉलीग्राफ सेशन के दौरान, आफताब ने श्रद्धा के कटे हुए शरीर के अंगों को जंगल में फेंकने और कई महिलाओं के साथ डेटिंग करने की बात भी कबूल की। उसने ये भी कबूल किया है कि उसे अपनी लिव इन पार्टनर की हत्या करने का पछतावा नहीं है। आफताब ने कथित तौर पर 18 मई को श्रद्धा का गला घोंट दिया और उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काट दिया, जिसे उसने कई दिनों तक शहर भर में फेंकने से पहले दक्षिणी दिल्ली के महरौली में अपने आवास पर लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर के फ्रिज में रखा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button