पंजाबराज्यहरियाणाहिमाचल

अपने पार्षदों पर ही नहीं विश्वास, बगावत की आशंका

दिलचस्प बना मेयर चुनाव, भाजपा पार्षद भी पहुंचे हिमाचल, आम आदमी पार्टी के पार्षद रोपड़ में बना रहे जीत की रणनीति

मनीमाजरा (चंडीगढ़), 14 जनवरी

आगामी 17 जनवरी को होने वाला चंडीगढ़ के मेयर का चुनाव दिलचस्प रहेगा। 14-14 पार्षदों वाले भाजपा और आम आदमी पार्टी में मेयर के चुनाव के लिए सीधी टक्कर है। जबकि कांग्रेस चुनाव की रेस से बाहर हो गई है। हालांकि कांग्रेस ने चुनाव में भाग ना लेने की बात की है, लेकिन फिर भी उसके पार्षद किसी के बहकावे में ना आएं इसलिए प्रदेश अध्यक्ष सभी पार्षदों को साथ लेकर हिमाचल की सैर पर हैं। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक भाजपा के पार्षद प्रदेश महासचिव रामवीर भट्टी के साथ शुक्रवार को मोरनी के एक निजी रिजोर्ट में पहुंचे थे, जहां पर उन्होंने 1 दिन बिताया और शनिवार सुबह का नाश्ता लेने के बाद सभी पार्षद हिमाचल के लिए रवाना हो गए।

सूत्रों की मानें तो भाजपा पार्षद कसौली के आसपास किसी रिसोर्ट में टिके हैं उधर सूत्रों का यह भी कहना है कि मोरनी से निकले भाजपा पार्षदों से परमाणु के निकट हिमाचल के सह प्रभारी संजय टंडन मिले और जीत का मंत्र दिया। बताया गया कि टंडन करीब एक घंटा भाजपा के पार्षदों के साथ रहे और उन्होंने पार्टी की जीत को यकीनी बनाने के लिए सभी पार्षदों को जीत का मंत्र दिया। भाजपा पार्षदों के दल में मेयर का चुनाव लड़ रहे अनूप गुप्ता, सीनियर डिप्टी मेयर का चुनाव लड़ रहे कंवरजीत राणा और डिप्टी मेयर का चुनाव लड़ रहे हरजीत सिंह मौली भी थे । सूत्रों का कहना है कि भाजपा में अच्छी पैठ रखने वाले अनिल दुबे और जगतार जग्गा भी पार्षदों के दल के साथ हिमाचल की सैर के लिए निकले हैं।

अपनों की बगावत के डर से शहर छोड़ने को मजबूर हुई भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, आप के सूत्रों का कहना है कि चुनाव में किसी प्रकार की अपने गड़बड़ ना कर दें इसलिए 1-1 वोट को कीमती मानकर कांग्रेस, भाजपा,आम आदमी पार्टी शहर से दूर हिमाचल और पंजाब में जीत की तिकड़म लड़ा रही हैं। सूत्रों का कहना है कि अपनों में बगावत की आशंका से भी सबको शहर से दूर ले जाना पड़ा है।

कांग्रेस पार्षदों ने की कुफरी की सैर

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के पार्षद प्रदेश अध्यक्ष हरमोहिंद्र लकी के साथ शिमला में ठहरे हैं ,जो कि आज कुफरी की सैर करके आए। सूत्रों का कहना है कि पार्षद हिमाचल के मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू को मिलने के लिए भी लालायित हैं। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस पार्टी नगर निगम के इस चुनाव में भाग नहीं लेगी, लेकिन उसके पार्षदों को कथित रूप से कोई बहका ना दे इसलिए चुनाव होने तक सभी हिमाचल की ठंडी वादियों की ओर निकले हुए हैं।

आप पार्षदों का पंजाब में डेरा

नगर निगम चुनाव में भाजपा से सीधे मुकाबले में उतरी आम आदमी पार्टी के पार्षद रोपड़ के एक निजी रिजोर्ट में रुके हुए बताए जा रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि पार्षदों के साथ पार्टी के वरिष्ठ नेता भी गए हैं जो कि वहां पार्टी की जीत की रणनीति बना रहे हैं । आप इस बार मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के चुनाव को हल्के में नहीं ले रही और सभी सीटों पर चुनाव जीतने की कोशिश में है। सूत्रों का कहना है कि चुनाव में पार्टी पूरी जान लगा रही है।

अकाली दल पार्षद का वोट होगा निर्णायक

निगम में इस समय भाजपा और आम आदमी पार्टी के 14-14 पार्षद हैं । एक वोट शहर की सांसद किरण खेर का है। इसके अलावा अकाली दल का एक वोट भी चुनाव में मेयर समेत अन्य उम्मीदवारों को जिताने में अहम भूमिका निभाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button