राज्य

भाजपा नेत्री श्वेता सिंह की मौत मामले में नया मोड़, बेटियां बोलीं- मम्मी को पापा ने मारा है, हमें इंसाफ चाहिए

अनिल सिंह, बांदा: उत्तर प्रदेश के बांदा (Banda) मेंजिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह गौर (Shweta Singh Gaur) की बेटियां अपनी मां की मौत के बाद गहरे सदमे में है। दोनों बेटियों ने बड़ा खुलासा करते हुए अपने ही पिता पर हत्या (Murder) करने का आरोप लगाया है। उन्होंने रोते हुए कहा कि हमारी मम्मी को पापा बहुत मारते-पीटते थे। उन्होंने ही मां को मारा है। यही नहीं बेटियों ने बताया कि बाबा (दादा) भी मां को गालियां देते थे। ये बेटियां अब गुहार लगा रही हैं- हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी से इंसाफ चाहिए। बेटियों की इस भावुक अपील के वीडियो और तहरीर के आधार पर कोतवाली पुलिस ने पिता के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

जनपद बांदा के जसपुरा ब्लॉक में वार्ड नंबर 12 से जिला पंचायत सदस्य और भाजपा नेत्री श्वेता सिंह गौर की तीन बेटियां हैं। बड़ी बेटी मित्तो लखनऊ के एक स्कूल में कक्षा-9 की छात्रा है। मंझली बेटी गौरी यहां घर के पास स्थित एक स्कूल में कक्षा-6 की छात्रा है। तीसरी बेटी अविष्का दूसरी कथा में पढ़ती है। वह 2 दिन पहले ही अपनी नानी के यहां कर्वी, चित्रकूट चली गई थी। तीनों बेटियां मां की मौत के बाद गहरे सदमे में हैं। इन्होंने रोते हुए बताया कि पिता जी मां को अक्सर मारते-पीटते थे और बाबा (रिटायर्ड डीआईजी) राज बहादुर सिंह भी गंदी-गंदी गालियां देते थे। पिता ने ही हमारी मम्मी को मारा है, हमें इंसाफ चाहिए। दोनों बेटियों की इस भावुक अपील के बाद कोतवाली पुलिस ने घटना के बाद फरार भाजपा किसान मोर्चा के नेता रहे दीपक सिंह गौर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

बताते चलें कि जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह गौर का बुधवार को इंदिरा नगर आवास में फांसी पर लटकता हुआ शव मिला था। मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने कहा था कि कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था, जिससे प्रथमदृष्टया यह आत्महत्या का मामला है। वहीं पड़ोसियों ने बताया कि घटना की रात पति पत्नी के बीच झगड़ा हुआ था। इस झगड़े के बाद पति दीपक सिंह गौर ने स्वयं भी फांसी लगाने की कोशिश की थी, लेकिन दोनों को समझा-बुझाकर मामला शांत कर दिया गया था

वहीं नौकर छेदीलाल के मुताबिक बुधवार को सुबह जब दीपक सिंह गौर शराब पी रहा था तो पत्नी श्वेता सिंह गौर ने शराब पीने से मना किया था। इसी बात को लेकर दोनों में फिर झगड़ा हुआ। झगड़े के बाद दीपक सिंह गौर यह कहकर घर से चले गए थे कि वह अविष्का को लेने स्कूल जा रहे हैं। इस बीच श्वेता सिंह ने अपने कमरे में फांसी लगा ली थी। पुलिस मामले की जांच कर रही थी। इस बीच क्षेत्राधिकारी नगर राकेश कुमार सिंह पुष्टि की है कि मृतका के भाई ओंकार सिंह की तहरीर पर रिटायर्ड डीआईजी मृतका के ससुर राज बहादुर सिंह, पति दीपक सिंह गौर व सास के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button